पूर्वोत्तर के विकास से ही न्यू इंडिया का निर्माण हो सकता है



ईटानगर, 09 फरवरी 2019, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अरुणाचल प्रदेश, असम और त्रिपुरा की अपनी यात्रा के क्रम में ईटानगर पहुंचे। उन्होंने ईटानगर में नए ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट और सेला टनल का शिलान्यास किया। प्रधानमंत्री ने डीडी अरुण प्रभा चैनल का शुभारंभ किया। उन्होंने ईटानगर के आईजी पार्क से कई अन्य विकास परियोजनाओं का अनावरण किया। प्रधानमंत्री ने वहां लॉइन लूम संचालन का भी निरीक्षण किया।

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि अरुणाचल उगते सूरज का प्रदेश है यह देश का विश्वास है। आज मुझे 4000 करोड़ रुपए से अधिक की विकास परियोजनाओं को अनावरण करने का सुअवसर प्राप्त हुआ है। 13000 करोड़ रुपए की अन्य परियोजनाएं प्रगति पर हैं। प्रधानमंत्री ने अरुणाचल प्रदेश और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों में विकास गतिविधियों के संदर्भ में लोगों से 55 महीने की उनकी सरकार की तुलना पिछली सरकारों के 55 वर्ष से करने का आग्रह किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास उतनी तेज गति से नहीं हो पाया जितनी तेज गति की अपेक्षा थी। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने अरुणाचल को नजरंदाज किया लेकिन हम लोग यहां बदलाव के लिए हैं। उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि पूर्वोत्तर भारत के विकास से ही न्यू इंडिया का निर्माण हो सकता है। लोगों और क्षेत्रों को जोड़ने के लिए विकास होना चाहिए। पिछले 55 महीनों में विकास कार्यों के लिए धन का अभाव नहीं होने दिया गया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने अरुणाचल के लिए 44000 करोड़ रुपए आबंटित किए हैं, जो पिछली सरकारों द्वारा दी गई धनराशि से दोगुनी है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने होलांगी के ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निर्माण की आधारशिला रखी तथा तेजू हवाई अड्डे का उद्घाटन किया। हॉलांगी में 4100 वर्गमीटर क्षेत्र में 955 करोड़ रुपए की लागत से टर्मिनल का निर्माण किया जाएगा। इसकी संचालन क्षमता 200 यात्री प्रति घंटे होगी। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज से राज्य की कनेक्टविटी बेहतर होगी। वर्तमान में ईटानगर पहुंचने के लिए गुवाहाटी हवाई अड्डे पर उतरकर सड़क मार्ग से या हेलीकॉप्टर सेवा का उपयोग करना पड़ता था। तेजू हवाई अड्डे का निर्माण 50 वर्ष पहले हुआ था। किसी भी सरकार ने राज्य को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने के बारे में नहीं सोचा। 125 करोड़ रुपए की लागत से हमने इस छोटे से हवाई अड्डे का विस्तार किया। उड़ान योजना से किफायती हवाई यात्रा का लाभ लोगों को मिलेगा। केवल हवाई अड्डे से ही नहीं बल्कि नई रेल और सड़क सुविधाओं से अरुणाचल प्रदेश के लोगों का जीवन बेहतर होगा।

प्रधानमंत्री ने अरुणाचल प्रदेश में सेला टनल का शिलान्यास किया। इससे सभी मौसम में तवांग घाटी पहुंचा जा सकेगा। तवांग पहुंचने की यात्रा अवधि में एक घंटे की कमी आएगी। इस परियोजना के निर्माण लागत 700 करोड़ रुपए है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बोगीबिल में सड़क और रेल पुल से अरुणाचल मुख्य भूमि से बेहतर तरीके से जुड़ गया है। राज्य की कनेक्टविटी को बेहतर करने के लिए सरकार 1000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं पर काम कर रही है। पिछले दो वर्षों में सड़कों के माध्यम से 1000 गांवों को जोड़ा गया है। ट्रांस-अरुणाचल राजमार्ग निर्माण का भी कार्य प्रगति पर है। पूर्वोत्तर राज्यों की राजधानियों को आपस में जोड़ने के लिए ईटानगर को रेल सेवा से जोड़ा गया है। नाहर लागून से अरुणाचल एक्सप्रेस सप्ताह में दो बार चल रही है। नई रेललाइन के लिए राज्य के छः स्थानों पर सर्वेक्षण का कार्य चल रहा है। तीन स्थानों का सर्वेक्षण कार्य पूरा हो चुका है। तवांग को भी रेल सेवा से जोड़ने की योजना है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सौभाग्य योजना के अंतर्गत राज्य में शत प्रतिशत घरों का विद्युतीकरण किया जाएगा। प्रधानमंत्री ने 110 मेगावाट क्षमता के पारे जल विद्युत संयंत्र का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि हम विद्युत उत्पादन पर जोर दे रहे हैं। आज 12 जल विद्युत परियोजनाओं का उद्घाटन हुआ। इन परियोजना से अरुणाचल प्रदेश समेत पड़ोसी राज्यों को लाभ मिलेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कल मैंने लोगों से उनके पूर्वोत्तर भ्रमण की तस्वीरों को साझा करने का आग्रह किया था। कुछ ही सेकेण्ड में विदेशी नागरिकों समेत लोगों ने हजारों फोटो ट्वीट किए। उन्होंने कहा कि जिन परियोजनाओं का आज अनावरण हुआ है उनसे लोगों के जीवन में आसानी होगी और पर्यटन का विकास होगा। इससे रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी।

प्रधानमंत्री ने अरुणाचल प्रदेश में 50 स्वास्थ्य व आरोग्य केन्द्रों का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से हम स्वास्थ्य व आरोग्य केन्द्रों का निर्माण कर रहे हैं। इन केन्द्रों से स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर होंगी। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई) के तहत एक 150 दिनों में 11 लाख गरीब लोगों को लाभ मिला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बजट में घोषित पीएम किसान सम्मान निधि के माध्यम से उन लोगों को प्रति वर्ष तीन किस्तों में 6000 रुपए बैंक खातों में दिए जाएंगे जिसके पास 5 एकड़ से कम जमीन है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार जैविक कृषि को प्रोत्साहन देने में अरुणाचल प्रदेश सरकार की हर संभव मदद करेगी।

प्रधानमंत्री ने ईटानगर के आईजी पार्क में अरुणाचल प्रदेश के लिए विशेष डीडी चैनल- अरुण प्रभा का शुभारंभ किया। 24 घंटे चलने वाले इस चैनल का संचालन दूरदर्शन करेगा। इस चैनल से राज्य के सुदूर क्षेत्रों के समाचार लोगों तक पहुंचेंगे। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने जोट, अरुणाचल प्रदेश में भारत फिल्म और टेलीविजन संस्थान (एफटीआईआई) के स्थायी कैम्पस की आधार शिला रखी।

प्रधानमंत्री ने यह कहते हुए अपना संबोधन समाप्त किया कि अरुणाचल प्रदेश भारत का गौरव है। यह भारत का द्वार है और मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम न केवल इसकी संरक्षा व सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे बल्कि इसका तेज गति से विकास करेंगे।





Image Gallery
Budget Advertisement