केंद्रीय बलों की वर्दी में भाजपा व संघ के जवान : ममता



---रंजीत लुधियानवी, कोलकाता, 13 मई 2019, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को अंदेशा जताया कि चुनाव कराने के लिए केंद्रीय बलों की वर्दी में भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता बंगाल में घुस आए हैं। उन्होंने दोहराया कि भाजपा सरकार राज्य में वोटरों को प्रभावित करने के लिए केंद्रीय बलों का इस्तेमाल कर रही है। वे दक्षिण 24-परगना जिले के बासंती में एक रैली में बोल रही थीं।

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि वे केंद्रीय बलों का अपमान नहीं कर रही हैं। लेकिन उनको वोटरों को प्रभावित करने का निर्देश दिया गया है। बंगाल में केंद्रीय बलों की तैनाती की आड़ में भाजपा अपने और संघ के कार्यकर्ताओं को राज्य में भेज रही है। ममता ने संदेह जताया कि संघ के कार्यकर्ता केंद्रीय बलों की वर्दी में राज्य में घुस आए हैं।

ममता ने कहा कि घाटाल संसदीय क्षेत्र की भाजपा उम्मीदवार भारती घोष की सुरक्षा में लगे केंद्रीय बलों के एक अधिकारी की फायरिंग में तृणमूल कांग्रेस का एक कार्यकर्ता घायल हो गया है। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र के भीतर हुई फायरिंग में एक अल्पसंख्यक कार्यकर्ता के घायल होने की खबर मिली है। ममता ने आरोप लगाया कि केंद्रीय बलों के जवान कतार में खड़े मतदाताओं से भगवा पार्टी को वोट डालने को कह रहे हैं। उन्होंने सवाल किया कि वे ऐसा कैसे कर सकते हैं? क्या भाजपा के लिए वोट डालने को कहना केंद्रीय बलों का काम है?

ममता ने कहा कि मोदी सरकार यहां चुनावों के संचालन के लिए कुछ सेवानिवृत्त अधिकारियों का इस्तेमाल कर रही है और वे अपनी मनमानी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बलों को मोदी को वोट देने की बात कहने से बचना चाहिए। यह शर्मनाक है। वे यहां एक खास काम से आए हैं। आज वे मोदी के अधीन हैं, कल किसी और के अधीन होंगे। उस समय वे क्या करेंगे?

बता दें कि रविवार को छठे चरण की आठ सीटों पर मुक्त व निष्पक्ष मतदान के लिए केंद्रीय बलों की 770 कंपनियां तैनात की गई थी।





Image Gallery
Budget Advertisementt