16 मई 2019 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चुनावी जनसभाएं



पश्चिम बंगाल/उत्तर प्रदेश, 16 मई 2019, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

■ दीदी, पश्चिम बंगाल आपकी और आपके भतीजे की जागीर नहीं है : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

कोलकाता के दमदम में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि दीदी, पश्चिम बंगाल आपकी और आपके भतीजे की जागीर नहीं है। ये मां भारती का एक अटूट अंश है। गंगोत्री से गंगासागर तक मां गंगा ने जब किसी से भेद नहीं किया तो दीदी आप कौन होती हैं भेद करने वाली।

उन्होंने कहा कि जो पिछले 6 महीने से मोदी हटाओ की बातें करते थे, जो लोग प्रधानमंत्री के दावे ठोक रहे थे लेकिन दो दिन से अचानक उनकी बत्ती गुल हो गई है। उन्होंने कहा कि दीदी, आपकी सत्ता जा रही है, आपकी जमीन खिसक चुकी है। पश्चिम बंगाल के लोगों ने आपको नकार दिया है। इस सच को स्वीकार कर लीजिए और हिंसा का रास्ता छोड़ दीजिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी ने बंगाल में क्या हालात बना दिए हैं? जो दुष्ट हैं, जो घुसपैठिए हैं वो मौज में हैं लेकिन जो काली के भक्त हैं, जो राम के भक्त हैं वो डर-डर कर जीने को मजबूर हैं। चुनाव के दौरान यहां भाजपा के अनेक कार्यकर्ताओं की हत्या की गई। अनेक कार्यकर्ताओं पर हमले हुए। जय श्रीराम कहने भर से ही बंगाल के युवाओं को जेल में ठूंसा जा रहा है। एक मजाक करने भर से ही बेटियों को जेल में भेजा जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि दीदी पश्चिम बंगाल को अपनी पर्सनल प्रॉपर्टी समझने की भूल कर रही है। आज आप चुनाव आयोग को गालियां दे रही हैं, चुनाव प्रक्रिया और सुरक्षा बलों को आप जमकर गालियां दे रही हैं। आप भूल रही हैं कि एक समय इन्हीं संस्थाओं ने आपकी मदद की थी। देश के लोकतंत्र की मर्यादा, आपके अहंकार से कहीं ज्यादा ऊंची है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि ईश्वर चंद्र विद्यासागर बंगाल ही नहीं देश के सपूत हैं। जिन लोगों ने उनकी मूर्ति तोड़ी है, पाप किया है। इस तरह की हरकत करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, बिहार, ओडिशा से जीविका कमाने बंगाल आने वाले लोगों से आपको समस्या है, लेकिन सीमा लांघ कर चोरी-छिपे रात के अंधेरे में यहां आने वाले घुसपैठियों से आपको कोई समस्या नहीं है।

■ दीदी पश्चिम बंगाल की जनता आपसे परेशान है : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

पश्चिम बंगाल के मथुरापुर की चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि दीदी आपसे राज्‍य की जनता परेशान है। आपका बोर‍िया ब‍िस्‍तर बांधने की तैयारी की जा चुकी है। उनका ये सेवक एक मजबूत सरकार बना सके इसके लिए पश्चिम बंगाल ने ठान लिया है कि वो भारतीय जनता पार्टी को 300 सीटें पार कराएगी।

उन्होंने कहा कि दीदी बंगाल के बच्चों और बंगाल की बेटियों को बात बात में जेल भेज देती हैं। लेकिन घुसपैठियों और तस्करों को उन्होंने खुली छूट दे रखी है। कल मीडिया में मैंने देखा कि दीदी ने बीजेपी के दफ्तर पर कब्जा करने की भी धमकी दी है। अपने भतीजे के साथ मिलकर इन्होने टोलाबाजों और तस्करों का एक सिंडिकेट चला रखा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने रात को महान शिक्षाविद्, समाज सुधारक ईश्वर चन्द्र विद्यासागर जी की मूर्ति को तोड़ दिया। ये साफ दिखाता है कि वोटबैंक की राजनीति के लिए दीदी किस स्तर पर जा सकती हैं। उस कॉलेज में सीसीटीवी कैमरा लगे थे, क्या कारण है कि सरकार नारदा-शारदा के सबूतों की तरफ इसके भी सबूत मिटा रही है।

■ दीदी का चले तो मेरा हेलीकॉप्टर न उतरने दें : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

उत्तर प्रदेश के मऊ में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि महामिलावटी एक मजबूर सरकार चाहते थे जिससे ये ब्लैकमेल कर सकें। उन्होंने कहा कि ये नया भारत है जो घर में घुसकर मारता है। उन्होंने कहा कि लखनऊ में एसी कमरे में बैठकर सपा बसपा की डील हो गई लेकिन जमीन से कटे हुए ये नेता अपने कार्यकर्ता को ही भूल गए। नतीजा ये है कि सपा बसपा के कार्यकर्ता एक दूसरे पर हमले कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार चाहती है कि मुस्लिम महिलाओं को उनकी आस्था के दायरे में ही तीन तलाक के खिलाफ आवाज उठाने का अधिकार मिले लेकिन ये महामिलावटी दल ऐसा भी होने नहीं दे रहे। सपा-बसपा ने यहां से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है जो बलात्कार के आरोप में भगोड़ा है। समाजवादी पार्टी का तो इतिहास यूपी के लोग जानते हैं, लेकिन बहन जी, क्या आप ऐसे उम्मीदवारों के लिए वोट मांगेगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि बहन जी ने पश्चिम बंगाल को लेकर मुझ पर निशाना साधा है। चुनाव आयोग को भी आड़े हाथों लिया है। जिस तरह ममता दीदी वहां पर यूपी-बिहार और पूर्वांचल के लोगों पर निशाना साध रही हैं, मुझे लगा बहन मायावती इस पर ममता दीदी को जरूर खरी-खोटी सुनाएंगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। उन्होंने कहा कि ममता दीदी का चले तो वह मेरा हेलीकॉप्टर भी न उतरने दें।

■ हार देखकर तमाम महामिलावटी पूरी तरह से पस्त हैं : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

चंदौली की चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बुरी तरह हार देखकर सपा-बसपा सहित ये तमाम महामिलावटी आज पूरी तरह से पस्त है। बेंगलुरु में एक दूसरे का हाथ पकड़ के फोटो खिंचवाई थी जैसे ही प्रधानमंत्री पद की बात आई तो सब अपना-अपना दाव लेकर अपनी-अपनी ढपली बजाने लग गए। कोई 8 सीट, कोई 10 सीट, कोई 20-22 और कोई 35 सीट वाला प्रधानमंत्री बनने के सपने देखने लगा।

उन्‍होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक का विरोध, एयर स्ट्राइक का विरोध, घुसपैठियों की पहचान का विरोध, नागरिकता कानून का विरोध, तीन तलाक के कानून का विरोध, ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का विरोध, कदम कदम पर मोदी का विरोध करना सिर्फ यही इनका मॉडल है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग झूठ और अफवाह फैलाकर हमारे किसानों को गुमराह करना चाहते हैं। मैं आज यहां से पूरे देश के किसानों को बता देना चाहता हूं कि जो पैसे आपके खातों में भेजे जा रहे हैं, वो आपके अपने हैं, आपकी सहायता के लिए हैं। उन पैसों को आपसे कभी भी वापस नहीं लिया जाएगा। हमारी नीति एकदम साफ है। हम जवानों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेंगे।

■ वोट कटवा बन गई नामदारों की पार्टी : नरेन्द्र मोदी

मिर्जापुर की चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि जनता ये जानती है कि कौन आतंकी को घर में घुसकर मार सकता है। कौन है जो नक्सलवाद की सफाई कर सकता है। बांटने और तोड़ने की राजनीति करने वाली नामदारों की पार्टी जिसने 4 - 4 पीढ़ी तक सरकार चलाई। आज वो खुद बोलने लगे हैं कि उनकी पार्टी अब वोट कटवा बन गई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सपा-बसपा और कांग्रेस के नेताओं ने अपने कार्यकर्ताओं को रिमोट कंट्रोल से चलने वाला खिलौना समझ लिया है। एक लीडर होता है, जो समाज की खुशी के लिए समर्पित होता है, दूसरा होता है डीलर जो सत्ता की कुर्सी के लिए डील करते हैं। सिर्फ अपने स्वार्थ की राजनीति करने वाले सपा-बसपा-कांग्रेस के डीलर उत्तर प्रदेश की समझदार जनता को गलत समझने की भूल कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि बुआ, बबुआ और कांग्रेस के नामदार, उत्तर प्रदेश की जनता को सिर्फ जातियों में बांटते हैं। ये महामिलावटी वही लोग हैं, ये वही लोग हैं जिन्होंने महापुरुषों के नाम पर स्मारक बनाने का ढोंग किया और उसमें भी घोटाला कर गए। जब इनकी महामिलावटी सरकार थी तो इन्होने उत्तर प्रदेश के उद्योगों को गुंडाराज की भेंट चढ़ा दिया।





Image Gallery
Budget Advertisement