बेंगलुरु : इसरो के अध्यक्ष डॉ• के• सिवन ने मीडिया को चंद्रयान मिशन की जानकारी दी



बेंगलुरु, 14 जून 2019, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो के अध्‍यक्ष डॉ• के• सिवन ने चंद्रमा के लिए भारत के आगामी चंद्रयान-2 अभियान के बारे में बुधवार 12 जून को बेंगलुरु में मीडिया को जानकारी दी। इसरो के मुख्‍यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में क्षेत्रीय, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया कर्मी मौजूद थे।

डॉ• सिवन ने इस मौके पर अंतरिक्ष विज्ञान और अंतरग्रही अभियानों के बारे में इसरो की भावी रणनीतियों का खाका पेश किया। उन्‍होंने कहा कि आंतरिक सौरमंडल के रहस्यों के बारे में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय वैज्ञानिक समुदाय काफी कुछ जानने का इच्‍छुक है। उन्‍होंने इस मौके विशेष रूप से चंद्रयान-2 अभियान का जिक्र करते हुए कहा कि चंद्रयान-2 को जीएसएलवी एमकेIII-एम1के प्रक्षेपण यान के जरिए 15 जुलाई, 2019 को तड़के 02.51 मिनट पर श्रीहरिकोटा प्रेक्षपित किया जाएगा। उन्‍होंने बताया कि चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर के 06 सितंबर, 2019 को चंद्रमा की सतह पर उतरने की संभावना है। उन्होंने मीडिया को चंद्रयान अभियान के वैज्ञानिक उद्देश्यों, चुनौतियों और लाभों की भी जानकारी दी।

इसरों के अध्‍यक्ष ने चंद्रमा की परिक्रमा करने और अंतरिक्ष यान को चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश कराने के चुनौतीपूर्ण कार्यों के साथ-साथ ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर के बारे में भी विस्‍तार से बताया। डॉ• सिवन ने इस अवसर पर विशेष रूप से चंद्रमा की सतह पर लैंडर को सही तरीके से उतारे जाने वाले चुनौतीपूर्ण कार्य का उल्लेख किया। उन्‍होंने कहा कि ये आखिरी के 15 मिनट बेहद कठिन होंगे।

इससे पहले दिन में मीडिया कर्मियों को चंद्रयान-2 ऑर्बिटर और लैंडर को इसरो के बेंगलूरू स्थित सैटेलाइट इंटीग्रेशन एंड टेस्ट इस्टैब्लिशमेंट केंद्र में देखने का अवसर मिला।

इसरो के अध्‍यक्ष ने मीडिया कर्मियों को चंद्रयान-2 की जानकारी देने के बाद उनके कई सवालों के जवाब भी दिए।





Image Gallery
Budget Advertisement