कर्टेन रेजर : नोमाडिक एलीफैंट 2019 व एक्यूवरिन 2019



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

● कर्टेन रेजर: भारत-मंगोलिया संयुक्त अभ्यास नोमाडिक एलीफैंट 2019

भारत और मंगोलिया के बीच 14 दिन के संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास नोमाडिक एलीफैंट-14 का 14वां संस्करण 5 अक्टूबर 2019 से शुरू होगा। यह अभ्यास बाकलोह में 5 अक्टूबर से 18 अक्टूबर के बीच आयोजित किया जाएगा। मंगोलियाई सेना का प्रतिनिधित्व एलीट 084 एयर बोर्न स्पेशल टॉस्क बटालियन के अधिकारी एवं जवान करेंगे जबकि भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व राजपूताना राइफल्स की एक बटालियन की एक टुकड़ी करेगी।

नोमाडिक एलीफैंड-15 का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र की व्यवस्था के तहत उग्रवाद रोधी और आतंकवाद निरोधी अभियानों के लिए सैनिकों को प्रशिक्षित करना है। यह संयुक्त अभ्यास दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग और सैन्य संबंधों को बढ़ाएगा। यह दोनों देशों की सेनाओं के लिए अपने अनुभवों और सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने तथा संयुक्त प्रशिक्षण का पारस्परिक रूप से लाभ उठाने का एक आदर्श मंच है।

संयुक्त प्रशिक्षण का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र के आदेश के तहत सामूहिक आतंकवादी निरोधी अभियानों का संचालन करते हुए आतंकवाद-रोधी परिस्थितियों के लिए विभिन्न सुनियोजित अभ्यासों जैसे काफिला सुरक्षा ड्रिल, रूम इंटरवेंशन ड्रिल, घात लगाना/घात निरोधी ड्रिल को विकसित करना है। संयुक्त प्रशिक्षण में दोनों सेनाओं के सैनिकों को शामिल करते हुए एक सहयोगी सबयूनिट द्वारा संचालन करने पर जोर दिया जाएगा। यह प्रतिकूल परिचालन परिस्थितियों में दोनों सेनाओं के बीच परस्पर सक्रियता को बढ़ाता है। दोनों सेनाओं द्वारा बनाई गई प्रशिक्षण की योजना संयुक्त संचालन के लिए क्षमता निर्माण का एक लंबा रास्ता तय करेगी।

● कर्टेन रेजर: भारत-मालदीव के बीच 7 से 20 अक्टूबर तक पुणे के औंध सैन्य स्टेशन में होने वाले संयुक्त अभ्यास 'एक्यूवरिन 2019'

भारतीय सेना और मालदीव की नेशनल डिफेंस फोर्स 07 से 20 अक्टूबर, 2019 के बीच महाराष्ट्र के पुणे के औंध मिलिट्री स्टेशन में दसवां संयुक्त सैन्य अभ्यास एक्यूवरिन करेंगी। भारतीय सेना और मालदीव की नेशनल डिफेंस फोर्सेस साल 2009 से ही एक्यूवरिन युद्ध अभ्यास आयोजित कर रही हैं। धिवेही भाषा में एक्यूवरिन का अर्थ ‘मित्र’ होता है।

14 दिनों का यह संयुक्त अभ्यास भारत और मालदीव में एक के बाद एक आयोजित किया जाता है। इसमें संयुक्त राष्ट्र की व्यवस्था के अनुरूप एक अर्द्ध-शहरी वातावरण में उग्रवाद रोधी और आतंकवाद निरोधी अभियानों को अंजाम देने के लिए दोनों सेनाओं के बीच परस्पर सक्रियता बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

इस अभ्यास में सर्वश्रेष्ठ प्रक्रियाओं को साझा करने और उग्रवाद रोधी तथा आतंकवाद निरोधी अभियानों को अंजाम देने के लिए एक-दूसरे को संचालन प्रक्रियाओं से परिचित कराने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। पिछला अभ्यास वर्ष 2018 में मालदीव के माफिलाफुसी स्थित नार्दर्न एरिया हेडक्वार्टर में आयोजित किया गया था। भारत मालदीव के साथ बहुत करीबी जातीय, भाषाई, सांस्कृतिक, धार्मिक और वाणिज्यिक संबंध साझा करता है और एक्यूवरिन अभ्यास दोनों देशों के बीच इन संबंधों को और मजबूत बनाने में सहायता करेगा।





Image Gallery
Budget Advertisementt