रामभक्तों 5 अगस्त को घर में ही रहकर करें पूजा-पाठ: चौपाल



--अभिजीत पाण्डेय (ब्यूरो),
पटना-बिहार, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

5 अगस्त को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की नींव रखेंगे। इसको लेकर राम भक्तों के लिए अयोध्या से आदेश भी पारित किया गया है। राम भक्तों से यह आग्रह किया गया है कि जिस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंदिर निर्माण की नींव की पूजा करेंगे उस दौरान सभी भक्त अपने घर, मंदिर में पूजा-पाठ हवन करेंगे। साथ ही अपने बंधु बांधवों में प्रसाद वितरण करेंगे। इसके अलावा उसी शाम राम भक्त अपने आवास पर दीप भी जलाएंगे। अयोध्या से आदेश यह भी है कि कोरोना को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन अवश्य करें।

बिहार में इस आदेश को सब जगह पहुंचा रहे कामेश्वर चौपाल। कामेश्वर चौपाल ने ही 1989 में राम मंदिर निर्माण की पहली ईंट रखी थी। उन्होंने बताया कि भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र भाई मोदी जिस दिन अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर का निर्माण प्रारम्भ करने के लिये पूजन कर रहे होंगे वह स्वतन्त्र भारत का सर्वाधिक महत्व का अवसर होगा और उसका सीधा प्रसारण दूरदर्शन द्वारा किया जायेगा। अन्य सभी चैनल भी उसे प्रसारित करेंगे। उस दिन भारत के बाहर अन्य देशों में निवास करने वाले सभी रामभक्त, भारत में रहने वाले सभी सन्त महात्मा अपने मठ मन्दिर आश्रम में अन्य सभी श्रद्धालु अपने घर पर परिवार के साथ या अपने निकट के मन्दिर में सामूहिक बैठकर सुबह 11:30 बजे से 12:30 बजे तक अपने आराध्य का भजन पूजन कीर्तन करें, पुष्प समर्पित करें, आरती करें।

कामेश्वर चौपाल बताते हैं कि यदि किसी स्थान के समाज के लिए सम्भव हो व्यवस्था हो सके तो किसी बड़े सभागार, हॉल में टेलीविजन, परदे द्वारा अयोध्या का पूजन कार्यक्रम अपने स्थान के समाज को दिखाने की योजना करें। अपने घर, मोहल्ला, ग्राम, बाजार, मठ मन्दिर, आश्रम में यथाशक्ति साजसज्जा करें और प्रसाद वितरण करें। सायंकाल सूर्यास्त के बाद दीप जलायें।

अयोध्या से ये भी आदेश आया है कि अपने सामर्थ्य के अनुसार मन्दिर निर्माण के लिए दान का संकल्प करें। कोरोना से रक्षा के सभी साधन अपनायें, प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन करें। वर्तमान परिस्तिथि में अयोध्या आने से अपार कष्ट हो सकता है। इस लिए अपने घर पर ही उत्सव मनायें।

ताजा समाचार

  India Inside News


National Report



Image Gallery
Budget Advertisementt