एआईआईए ने कोविड-19 मरीजों का ‘मुफ्त परीक्षण और उपचार’ शुरू किया



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाइक की घोषणा को ध्‍यान में रखते हुए अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए), नई दिल्ली ने हाल ही में अपने कोविड-19 हेल्थ सेंटर (सीएचसी) में मरीजों को मुफ्त या नि:शुल्‍क परीक्षण और उपचार सुविधा प्रदान करना शुरू कर दिया है।

श्री नाइक ने 28 जुलाई 2020 को सीएचसी का दौरा किया, ताकि कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए इस केंद्र में की गई व्यवस्था का जायजा लिया जा सके। इस दौरान उन्होंने घोषणा की कि सीएचसी सभी रोगियों को नि:शुल्क परीक्षण और उपचार सुविधाएं प्रदान करेगा। उन्होंने सीएचसी की गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) का भी उद्घाटन किया जो वेंटिलेटर सुविधा और आईसीयू की अन्य सभी मानक व्‍यवस्‍थाओं से लैस है।

यही नहीं, एआईआईए को भी दिल्ली सरकार द्वारा कोविड-19 परीक्षण केंद्र (आरटी-पीसीआर और रैपिड एंटीजन टेस्टिंग) के रूप में निर्दिष्‍ट किया गया है। इसके अलावा, आम जनता द्वारा टेलीफोन के जरिए पूछे जाने वाले कोविड- 19 से संबंधित सवालों का सटीक उत्‍तर देने के लिए एआईआईए में एक ‘कोविड कॉल सेंटर’ स्थापित किया गया है।

आयुष मंत्रालय के तत्वावधान में निवारक एवं उपचारात्मक या रोगनिवारक स्वास्थ्य सेवा और अश्वगंधा, नीम, कालमेघ, गिलोय जैसे अनुसंधान क्षेत्रों में इस संस्थान की अत्‍यंत अहम भूमिका है।

मंत्री ने आयुष मंत्रालय के निर्देशों के तहत दिल्ली पुलिस के 80,000 कर्मियों के लिए शुरू किए गए रोगनिरोधी कार्यक्रम ‘आयुर्रक्षा’ की भी सराहना की। कोविड -19 के खिलाफ लड़ाई में अग्रिम पंक्ति का योद्धा होने के नाते दिल्ली पुलिस को ‘आयुर्रक्षा’ किट दी जा रही है, ताकि इस महामारी के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता और जीवन की गुणवत्ता या स्‍तर बेहतर किया जा सके। आयुर्रक्षा किट में संशमनी वटी (गिलोय से तैयार), आयुष काढ़ा और नाक में लगाने के लिए अणु तेल शामिल हैं। अब तक 1,58,454 ‘आयुर्रक्षा’ किट दो चरणों में वितरित की गई हैं, जबकि समग्र अनुपालन 90% से भी अधिक रहा है। भारतीय सार्वजनिक स्वास्थ्य फाउंडेशन (पीएचएफआई) की मदद से दिल्ली पुलिस कर्मियों के फीडबैक का विश्लेषण किया जा रहा है। कर्मियों की ओर से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिल रही है जिसमें चिंता घटना, सामान्य रूप से अच्‍छा महसूस होना और हल्‍के लक्षणों जैसे कि सर्दी एवं खांसी में कमी होना शामिल हैं। यह भी पाया गया है कि दिल्ली में सामान्य आबादी के रुझानों की तुलना में कोविड-19 से जुड़ी प्रवृत्ति में गिरावट आई है।

एआईआईए के मुआयने के दौरान मंत्री ने डॉक्टरों की टीम के साथ भी बातचीत की और इस केंद्र में भर्ती रोगियों के स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में जानकारियां लीं। उन्होंने कोविड-19 स्वास्थ्य केंद्र में उपलब्ध सुविधाओं और आयुर्वेदिक दवाओं से किए जा रहे उपचार के परिणामों के बारे में उनकी प्रतिक्रिया मांगी।

मंत्री ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर एआईआईए द्वारा प्रदान की जा रही सेवाओं पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद के सिद्धांतों के आधार पर कोविड के पॉजिटिव रोगियों की देखभाल करने में एआईआईए की पूरी टीम का उत्साह, भावना, साहस और प्रयास सराहनीय है। एआईआईए पूरे भारत में कोविड-19 मरीजों को व्यक्तिगत आयुर्वेद चिकित्सा, आहार, योग और विश्राम तकनीकों के माध्यम से समग्र देखभाल या सेवाएं प्रदान करने में अनुकरणीय भूमिका निभा रहा है।

ताजा समाचार

  India Inside News


National Report



Image Gallery
Budget Advertisementt