1969 में पहली बार विधायक बनने से लोजपा तैयार करने तक का ऐसा रहा सफर जननेता रामविलास पासवान का



--अभिजीत पाण्डेय (ब्यूरो),
पटना-बिहार, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

लोजपा नेता व भारत सरकार में कैबिनेट मंत्री रामविलास पासवान का गुरूवार देर शाम निधन हो गया। राजनीतिक दिग्गजों का कहना है कि इस घटना ने राजनीतिक गलियारे में एक सूनापन पैदा कर दिया है। बता दें कि रामविलास पासवान का जन्म खगड़िया जिले के अलौली में पांच जून 1946 में हुआ था। उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएट की शिक्षा प्राप्त की थी। 1969 में पहली बार संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी की टिकट पर वे विधायक बने। बिहार के खगड़िया ज़िले में एक दलित परिवार में जन्मे रामविलास पासवान पढ़ाई में अच्छे थे। उन्होंने बिहार की प्रशासनिक सेवा परीक्षा पास की और वे पुलिस उपाधीक्षक यानी डीएसपी के पद के लिए चुने गए। लेकिन उस दौर में बिहार में काफ़ी राजनीतिक हलचल थी और इसी दौरान राम विलास पासवान की मुलाक़ात बेगूसराय ज़िले के एक समाजवादी नेता से हुई जिन्होंने पासवान की प्रतिभा से प्रभावित होकर उन्हें राजनीति में आने के लिए प्रेरित किया।

1969 में पासवान ने संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के टिकट पर अलौली सुरक्षित विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और यहाँ से उनके राजनीतिक जीवन की दिशा निर्धारित हो गई। पासवान बाद में जेपी आंदोलन में भी शामिल हुए और 1975 में लगी इमरजेंसी के बाद लगभग दो साल जेल में भी रहे। लेकिन शुरुआत में उनकी गिनती बिहार के बड़े युवा नेताओं में नहीं होती थी।

रामविलास पासवान 1972 से 1977 के बीच लोकदल और जेपी आंदोलन में सक्रिय रहे। 1977 में रिकार्ड मतों से हाजीपुर सीट से सांसद निर्वाचित हुए। वो आठ बार लोकसभा सदस्य रहे थे। वो दूसरी बार राज्यसभा सांसद हैं। भारत त्रिनिदाद और टोबैगो संसदीय मैत्री समूह के सदस्य भी रहे। सन 1977-78 में एससी एसटी कल्याण समिति, डीडीए सलाहकार परिषद, 1980-85 में संसदीय राज्य भाषा समिति, 1998-99 में भारत त्रिनिदाद और टोबैगो संसदीय मैत्री समूह के सदस्य भी वो रह चुके थे। 2010 के मई से 2014 के मई तक राज्य सभा सदस्य रह चुके थे।

2011 में मानव संसाधन विकास मंत्रालय के परामर्शदात्री समिति के सदस्य बने थे। 2013 में वे राज्यसभा के नियम समिति के सदस्य चुने गये। 2015 के 29 जनवरी को वे सामान्य प्रयोजन समिति के सदस्य बने।

• 1969 से 1972 तक बिहार विधानसभा के सदस्य

• 1977 में हाजीपुर से लोकसभा के सदस्य, रिकार्ड मतों से चुनाव जीते

• 1980 में दूसरी बार हाजीपर से सांसद निर्वाचित

• 1989 से 1991 तक हाजीपुर से सांसद रहे

• 1996 से 2009 तक हाजीपुर से सांसद रहे

• 2010 से 2014 तक राज्यसभा के सदस्य रहे

• 2014 से 2019 तक हाजीपुर से सांसद रहे

• 2019 से अब तक राज्यसभा के सदस्य

• 1989 में वीपी सिंह सरकार में श्रम मंत्री

• 1996 से 1998 तक - रेलमंत्री

• 1999 से 2000 तक - केंद्रीय संचार मंत्री

• 2001 से 2002 तक - केंद्रीय कोयला व खनिज मंत्री

• 2004 से 2009 तक - केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री

• 26 मई 2015 और दोबारा 30 मई 2019 से - उपभोक्ता मामलात मंत्री

■ साल 2000 में बनायी लोजपा

रामविलास पासवान ने सन 2000 में एक राजनीतिक पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी की स्थापना की थी। वर्तमान में 2019 से लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उनके बेटे चिराग पासवान हैं।

ताजा समाचार


  India Inside News


National Report



Image Gallery
Budget Advertisementt