उत्तर प्रदेश : मुख्यमंत्री योगी आदियनाथ ने एक ऐतिहासिक कार्य किया



--परमानंद पांडेय
अध्यक्ष - अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी सेवा न्यास,
राष्ट्रीय संयोजक - मंजिल ग्रुप साहित्यिक मंच, उत्तर भारत।

■ लव जेहाद और धर्म परिवर्तन के लिए प्रभावी अध्यादेश लाकर पूरे देश को एक दिशा दी

सनातन धर्म संस्कृति और समाज को बचाने का एक अभूतपूर्व प्रयास, हम सब उनके कृतज्ञ हैं। कल की यूपी कैबिनेट की बैठक में लव जेहाद की घटनाओं के जड़ पर प्रहार किया गया। एक अध्यादेश के प्रारूप को स्वीकृति मिली जिसमें यह प्रावधान है कि बल प्रयोग कर झूठ बोलकर प्रलोभन देकर जबरन धर्म परिवर्तन के उद्देश्य से विवाह कराने वाले को 10 वर्ष तक की कठोर सजा दी जा सकेगी। जुर्माने का भी प्रावधान है। 10 हजार से 25 हजार रुपये की राशि वसूली जा सकेगी। अनुसूचित जाति जन जाति की लड़कियों के मामले में 25 हजार जुरमाने का प्रावधान है। अब इस वर्ग की बेटियों के साथ छल प्रपंच कर धर्म परिवर्तन के उद्देश्य से विवाह करवाना बड़ा दंडनीय अपराध हो जाएगा।

अब अध्यादेश पर महामहिम राज्यपाल का हस्ताक्षर होगा और लागू हो जाएगा। बाद में इसे विधानमंडल से पारित करा कर स्थायी कानून का दर्जा दे दिया जाएगा।

इस अध्यादेश में यह प्रावधान भी है कि धर्म परिवर्तन के इच्छुक व्यक्तियों को दो महीने पहले सम्बंधित जिलाधिकारी के पास आवेदन देना होगा। यह शपथ पत्र उनके सामने दाखिल करना होगा कि धर्म परिवर्तन स्वेच्छा से हो रहा है। इस प्रकार कुचक्र में फंसकर धर्म परिवर्तन अब नहीं हो पायेगा।

अभी धर्म परिवर्तन एक बड़ी समस्या सनातन समाज की हो गई है। इस पर पहली बार प्रभावी प्रहार हो रहा है। एक सन्यासी मुख्यमंत्री के इस सद्प्रयास की जितनी भी सराहना की जाए कम है। लव जिहाद का असली मकसद तो धर्म परिवर्तन कराना ही है। लव जेहाद में यही होता रहा है कि सनातन हिन्दू परिवार की बेटियों को फुसलाकर प्रलोभन देकर मुस्लिम लड़के से विवाह कराना और फिर लड़की को मुसलमान बना देना। पूरी तैयारी अन्ततः गजबा ए हिन्द की है। कांग्रेस के मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति ने हमें बर्बादी के कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। अपने देश में नेहरू के जनाने से धर्म परिवर्तन का खेल चलता रहा।

हम देखते हैं कि झारखंड जैसे प्रदेशों में भोले भाले आदिवासियों को किस प्रकार ठग कर झूठे आश्वासन देकर ईसाई बनाया जाता रहा। विदेशों के पैसे से अंग्रेजों के जमाने में सुदूर जंगलों में आलीशान चर्च बने और सब सरकारी जमीन पर। नेहरू ने इसे जारी रखा। यह नेहरू ने ही तो किया कि हमें जबरन ओल्ड टेस्टामेंट और न्यू टेस्टामेंट पढ़वाया गया। हमने इंटर के क्लास में ही अंग्रेनी विषय में ईसाइयत की बात पढ़ी। हमें गीता नहीं पढ़वाया गया वेद नही पढ़वाया गया पर हमें नेहरू ने विवश किया बाइबिल के सिद्धांतों को पढ़ने के लिए। धर्म परिवर्तन का खेल कांग्रेस के संरक्षण में चलता रहा और अब तक चल रहा है।

यूपी नेतृत्व द्वारा उठाए गए कदम पर ताल मिलाते हुए अन्य भाजपा शासित राज्यों में लव जेहाद और धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए इसी प्रकार कानून बनाना होगा। कॉमन सिविल कोड और पाॅपुलेशन कंट्रोल पर भी कानून दस्तक देता प्रतीत हो रहा।

ताजा समाचार

  India Inside News


National Report



Image Gallery
Budget Advertisementt