बढ़ते दबाव में पाकिस्तान घुटनों पर, आतंक के खिलाफ कार्रवाई को मजबूर



नई दिल्ली, 05 मार्च 2019, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर बढ़ते विश्व समुदाय के दबाव पर पाकिस्तान घुटनों पर नज़र आने लग है और आतंक फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई का अभियान भी छेड़ दिया है। पाकिस्तान में जैश सरगना मसूद अजहर के दो भाईयों मुफ्ती अब्दुर रऊफ और हमाद सहित अलग-अलग संगठनों के 44 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ट्रेनिंग कैंप में भारतीय वायु सेना की एयर स्ट्राइक के 10 दिन बाद पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है।

पाकिस्तान के सूचना प्रसारण राज्य मंत्री ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कार्रवाई किसी दबाव का परिणाम नहीं है। गिरफ्तार किए गए लोगों में मौलाना अज़हर का भाई मुफ़्ती अब्दुर रऊफ़ और हम्माद अज़हर शामिल हैं। सभी अभियुक्त संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

आंतरिक सचिव ने कहा कि पाकिस्तान के साथ भारत सरकार द्वारा साझा किए गए डोजियर में मुफ्ती अब्दुर रऊफ और हम्माद अजहर के नाम भी हैं।

ज्ञात हो कि पाकिस्तान की सरकार ने फैसला किया था कि वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा नामित व्यक्तियों और संस्थाओं के खिलाफ प्रतिबंधों को लागू करेगा। विदेश मंत्रालय के अनुसार इसके लिए प्रक्रिया को कारगर बनाने के लिए एक आदेश जारी किया। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (कुर्की और जब्ती) आदेश को 2019, पाकिस्तान के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) अधिनियम, 1948 के प्रावधानों के अनुसार जारी किया गया है।





Image Gallery
Budget Advertisement