खबरें विशेष : आम चुनाव- 2019 के दूसरे चरण में



नई दिल्ली, 17 अप्रैल 2019, इंडिया इनसाइड न्यूज़।

॥●॥ उत्तर प्रदेश की 8 लोकसभा सीटों के लिए दूसरे चरण में 85 उम्मीदवार मैदान में

आम चुनाव- 2019 के दूसरे चरण में उत्‍तर प्रदेश की आठ लोकसभा सीटों के लिए 85 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इस चरण में राज्‍य की नगिना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा और फतेहपुर सीकरी सीट पर मतदान होगा। 2014 के पिछले आम चुनाव में इन सीटों के लिए कुल 125 उम्मीदवार मैदान में थे।

इस बार आम चुनाव में इन आठ सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों की संख्या कम हुई है, जबकि पिछले आम चुनाव -2014 में 40 निर्दलीय उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था। इस साल इन सीटों के लिए केवल 26 निर्दलीय उम्मीदवार मैदान में हैं।

आम चुनाव 2019 के तहत दूसरे चरण में उत्‍तर प्रदेश की जिन 8 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा, उनमें कुल 1,40,76,635 पंजीकृत मतदाता हैं।

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍य चुनाव अधिकारी की वेबसाइट से प्राप्‍त आंकड़ों के अनुसार राज्‍य में दूसरे चरण के मतदान के लिए कुल 1,40,76,635 पंजीकृत मतदाता हैं। जिनमें से 75,83,431 पुरूष और 64,92,326 महिला मतदाता हैं। दूसरे चरण के मतदान में मतदाताओं की संख्‍या के हिसाब से आगरा सबसे बड़ा निर्वाचन क्षेत्र है। यहां कुल 19,04,706 मतदाता हैं। नगीना कुल 15,74,994 मतदाताओं के साथ सबसे छोटा निर्वाचन क्षेत्र है।

भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट से प्राप्‍त आंकड़ों के अनुसार 2014 के आम चुनाव में उत्‍तर पद्रेश की इन 8 लोकसभा सीटों में मतदाताओं की कुल संख्‍या 1,34,03,734 थी, जो अब 5.09 प्रतिशत बढ़कर 6,72,901 हो गई है।


॥●॥ कर्नाटक की 28 में से 14 लोकसभा सीटों के लिए दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होगा

कर्नाटक में आम चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल, 2019 को मतदान होगा। राज्‍य की कुल 28 सीटों में से 14 लोकसभा सीटों के लिए इस चरण में मतदान हो रहा है। राज्‍य में दो चरणों में मतदान हो रहा है। राज्‍य में मतदाताओं की कुल संख्‍या 2,63,38,277 है। इसमें 1,33,52,234 पुरूष और 1,29,83,284 महिला मतदाता तथा 2,759 अन्‍य मतदाता हैं। राज्‍य में 30,410 मतदान केंद्र स्‍थापित किए गए हैं। 17 महिलाओं सहित कुल 241 उममीदवार चुनाव मैदान में हैं।


॥●॥ असम में आम चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होगा

असम में आम चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होगा। राज्‍य की 5 लोकसभा सीटों – करीमगंज, सिल्‍चर, स्‍वायत्‍त जिला, मंगलदोई और नौगांव के लिए मतदान होगा। 3 महिलाओं, 19 निर्दलयों और सात अन्‍य उम्‍मीदवारों सहित 50 उम्‍मीदवार लोकसभा की इन पांच सीटों के लिए मैदान में हैं।

राज्‍य के कुल 6910592 मतदाता, जिनमें 3554460 पुरूष, 3355952 महिलाएं और 180 अन्‍य मतदाता हैं, इस चरण में अपने वोट डालेंगे। राज्‍य में मतदान सुचारू रूप से आयोजित करने के लिए 4992 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।


॥●॥ श्रीनगर और उधमपुर संसदीय क्षेत्र में आम चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत 18 अप्रैल को मतदान होगा

आम चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत श्रीनगर और उधमपुर संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में 18 अप्रैल, 2019 को मतदान होगा। दूसरे चरण में इन दोनों सीटों के 9 जिलों में वोट डाले जाएंगे। इनमें श्रीनगर के गंदेरबल, श्रीनगर और बडगाम तथा उधमपुर के डोडा, रामबन, रियासी, उधमपुर और कठुआ जिले शामिल हैं। दूसरे चरण के तहत जिन दो सीटों पर मतदान होगा वे सामान्‍य श्रेणी की हैं।

जम्‍मू-कश्‍मीर के मुख्‍य चुनाव अधिकारी की वेबसाइट से प्राप्‍त आंकड़ों के अनुसार श्रीनगर और उधमपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में कुल 29,60,027 मतदाता हैं, जिनमें से 15,43,571 पुरूष और 14,16,387 महिला तथा 69 थर्ड जेंडर मतदाता हैं। इनके अलावा दूसरे चरण में मतदान करने वालों में 21,056 सेवा मतदाता और 16,528 दिव्‍यांग मतदाता भी शामिल हैं।

जम्‍मू–कश्‍मीर के मुख्‍य चुनाव अधिकारी की वेबसाइट से प्राप्‍त आंकड़ों के अनुसार 2014 के आम चुनाव में श्रीनगर और उधमपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में कुल 26,76,302 मतदाता थे, जिनकी संख्‍या 2019 के आम चुनाव में 10.6 प्रतिशत बढ़कर 2,83,725 हो गई है।

इन दोनों सीटों के बारे में एक रोचक बात यह है कि पिछले आम चुनाव में देशभर में हुए मतदान की तुलना में श्रीनगर में सबसे कम 25.86 प्रतिशत वोट पड़े थे, जबकि उधमपुर में 70.95 प्रतिशत मतदान हुआ था।

भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट की फॉर्म संख्‍या 7ए में दिए गए विवरण के अनुसार दूसरे चरण में श्रीनगर सीट से विभिन्‍न राजनीतिक दलों के कुल 12 उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में हैं। उधमपुर सीट से भी 12 उम्‍मीदवार अपनी किस्‍मत आजमा रहे हैं।


॥●॥ आम चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत छत्‍तीसगढ़ की महासमुंद, राजनंदगांव और कांकेर लोकसभा सीट पर 18 अप्रैल को मदतान होगा

आम चुनाव 2019 के दूसरे चरण के तहत छत्‍तीसगढ़ की महासमुंद, राजनंदगांव और कांकेर लोकसभा सीट के लिए वृहस्‍पतिवार 18 अप्रैल को मतदान होगा। इनमें महासमुंद और राजनंदगांव सीट सामान्‍य श्रेणी की है जबकि कांकेर सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है। तीनों लोकसभा सीटों में मतदाताओं की कुल संख्‍या 49 लाख सात हजार 489 है। जिनमें से 24 लाख 38 हजार 320 पुरुष मतदाता, 24 लाख 69 हजार 110 महिला मदाता और 59 अन्‍य मतदाता हैं। राज्‍य में दूसरे चरण के मतदान के लिए कुल 6 हजार 484 मतदान केन्‍द्र बनाए गए हैं। महासमुंद में 2140, राजनंदगांव में 2322 और कांकेर में 2022 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।


॥●॥ निर्वाचन आयोग ने अगले चरण के मतदान के लिए केंद्रीय पर्यवेक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्‍यम से त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में मतदान तैयारियों की समीक्षा की

मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा और चुनाव आयुक्त अशोक लवासा तथा सुशील चंद्रा के नेतृत्‍व में भारत निर्वाचन आयोग की टीम ने सोमवार 15 अप्रैल को पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा के विशिष्ट निर्वाचन क्षेत्रों में आम चुनाव 2019 के दूसरे और तीसरे चरण के तहत होने वाले मतदान की तैयारियों की समीक्षा की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित इस समीक्षा में पश्चिम बंगाल के संसदीय क्षेत्रों 3-जलपाईगुड़ी, 4-दार्जिलिंग, 5- रायगंज, 6- बालुरघाट, 7 -मालदा उत्तर, 8-मालदा दक्षिण, 9-जंगीपुर और 11-मुर्शिदाबाद में दूसरे और तीसरे चरण के तहत होने वाले मतदान तथा त्रिपुरा की दो सीटों पर दूसरे चरण के तहत होने वाले मतदान के लिए तैनात किए गए सामान्‍य, पुलिस और व्‍यय पर्यवेक्षक भी शामिल हुए।

सामान्‍य पर्यवेक्षकों ने मतदान केंद्रों पर सुनिश्चित न्यूनतम सुविधाओं, निशक्‍तजनों की मैपिंग तथा मतदान केन्‍द्रों पर उनकी सुविधा के लिए किए गए प्रबंध; मतदाताओं को इस बारे में जागरुक बनाने कि फोटो वोटर स्लिप (पीवीएस) को अब पहचान दस्तावेज के रूप में नहीं माना जाएगा, लेकिन प्रत्‍येक मतदाता को मतदान के दिन मतदान केंद्र पर दिखाए जाने वाले 12 निर्दिष्ट पहचान दस्तावेजों में से एक को लाना अनिर्वाय होगा के बारे में आयोग को जानकारी दी। आयोग ने राजनीतिक दलों की ओर से पर्यवेक्षकों को भेजी गई शिकायतें (यदि कोई हैं तो) के साथ ही मतदान के दौरान गड़बड़ी फैलाने या लोगों को डराने धमकाने का काम कर सकने वालों के खिलाफ निवारक कार्रवाइयों की भी समीक्षा की।

आयोग ने प्रत्‍येक संसदीय क्षेत्र में केन्‍द्रीय सशस्‍त्र बलों की तैनाती की स्थिति की भी विस्‍तृत समीक्षा की। इस अवसर पर पुलिस पर्यवेक्षकों ने जिलों में सुरक्षाबलों की तैनाती की योजना, लोगों में उनके प्रति विश्‍वास बहाली और कानून-व्यवस्था की स्थिति से भी आयोग को अवगत कराया। समीक्षा बैठक में पश्चिम बंगाल और झारखंड के लिए विशेष केंद्रीय पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे और त्रिपुरा तथा मिजोरम के लिए विशेष केंद्रीय पुलिस पर्यवेक्षक और एम के दास भी उपस्थित थे।

व्‍यय पर्यवेक्षकों ने आयोग को उड़न दस्‍तों, स्टेटिक सर्विलांस (एसएसटी) और वीडियो सर्विलांस टीमों की तैनाती, शिकायत प्रकोष्‍ठों तथा इन दस्‍तों और पुलिस द्वारा उम्‍मीदवारों के खातों की जांच और जब्‍त किए एक पैसों की जानकारी दी।

आयोग ने सभी पर्यवेक्षकों को निरंतर सतर्कता बरतने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष और विश्वसनीय तरीके से संपन्न हों।





Image Gallery
Budget Advertisementt