पंचतत्व में विलीन हुईं सुषमा स्वराज



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का बीती रात दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। सुषमा के निधन पर देश और दुनिया के बड़े नेताओं ने दुख व्यक्त किया। सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को भाजपा मुख्यालय में दोपहर तीन बजे तक रखा गया था। इसके बाद अंतिम यात्रा लोधी रोड स्थित शवदाह गृह तक पहुंची। भाजपा मुख्यालय से जब सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को ले जाया गया तो राजनाथ सिंह, जे• पी• नड्डा, रविशंकर प्रसाद और पीयूष गोयल ने उनको कंधा दिया। बुधवार शाम को दिल्ली के लोधी रोड स्थित शवदाह गृह में उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने अंतिम संस्कार की रस्में पूरी की। उनके निधन को लेकर दिल्ली व हरियाणा में दो दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से लेकर तमाम दिग्गज लोगों ने सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि दी। पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल को देखते ही भावुक हो गए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उपराष्ट्रपति एम• वेंकैया नायडू की आखें भी नम थीं। श्री नायडू ने कहा कि वे मुझे रक्षाबंधन पर बहुत याद आएंगी।

सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि अर्पित करने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, सोनिया गांधी, बाबा रामदेव, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, भाजपा सांसद हेमा मालिनी, केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी, दिल्ली के ले•गवर्नर अनिल बैजल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बसपा प्रमुख मायावती, कैलाश सत्यार्थी, सपा सांसद राम गोपाल यादव समेत कई हस्तियां पहुंचीं।

Image Gallery
Budget Advertisementt