2 सिंतबर अहम जब लैंडर ऑर्बिटर से होगा अलग : इसरो चेयरमैन



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि चंद्रयान-2 चंद्रमा की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित हुआ। इसरो के चेयरमैन के• सिवन ने कहा कि चंद्रयान-2 मिशन ने आज एक अहम पड़ाव पार किया है। उन्होंने कहा कि साउथ पोल में जिस जगह लैंड करना चाहते हैं उसके लिए आज की कक्षा बेहद जरूरी थी और हमने वो हासिल कर लिया। उन्होंने कहा कि 2 सिंतबर को लैंडर ऑर्बिटर से अलग होगा।

के• सिवन ने कहा कि सफल लैंडिंग का इतिहास सिर्फ 37 प्रतिशत है लेकिन हमें पूरा भरोसा है कि हमें सफलता मिलेगी। हमने कड़ी मेहनत की है बढ़िया तैयारी की है सारे सिमुलेशन्स को सही तरीके से पूरा किया। जो भी मानवीय तरीके से संभव हैं हमने सबकुछ किया है। हमें भरोसा है कि हमारा मिशन कामयाब होगा।

इसरो चेयरमैन ने कहा कि चंद्रयान-2 सात सितंबर को 01 बजकर 55 मिनट पर चांद के सतह पर लैंड करेगा।

उन्होंने कहा कि 2 सिंतबर को लैंडर ऑर्बिटर से अलग होगा। इसके बाद 3 सितंबर को लगभग तीन सेकंड की एक छोटी-सी प्रक्रिया होगी, ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि लैंडर के सभी सिस्टम सही काम कर रहे हैं।





Image Gallery
Budget Advertisementt