प्रधानमंत्री ने स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी जाकर सरदार पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की



केवड़िया-गुजरात,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी भारत के लौह पुरूष सरदार वल्‍लभभाई पटेल की जयंती के अवसर पर आज 31 अक्‍तूबर को केवड़िया, गुजरात में स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी जाकर सरदार पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की। प्रधानमंत्री मोदी ने केवड़िया में एकता दिवस परेड में भाग लिया, प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी स्‍थल का दौरा किया और बाद में प्रशासनिक सेवा के प्रोबेशनर्स के साथ बातचीत की।

वर्ष 2014 से 31 अक्‍टूबर राष्‍ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जा रहा है और सभी वर्गों के लोग एकता दौड़ में भाग लेते रहे हैं।

अपने मन की बात कार्यक्रम में 27 अक्‍तूबर 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने लोगों से आग्रह किया था कि वे एक लक्ष्‍य- एक भारत श्रेष्‍ठ भारत के लिए एकता दौड़ में बड़ी संख्‍या में भाग लें। उन्‍होंने कहा, ‘मित्रों जैसा कि आप जानते हैं कि वर्ष 2014 से हर वर्ष 31 अक्‍तूबर राष्‍ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। यह दिन किसी भी कीमत पर हमारे देश की एकता, अखण्‍डता और सुरक्षा की रक्षा करने का संदेश देता है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी 31 अक्‍तूबर को एकता दौड़ का आयोजन किया गया है। एकता दौड़ ऐसे सामंजस्‍य का प्रतीक है जहां एकजुट होने के नाते देश एक दिशा में आगे बढ़ रहा है और इसका सामूहिक उद्देश्‍य एक लक्ष्‍य है ! - एक भारत श्रेष्‍ठ भारत।’

“मेरे प्‍यारे देशवासियो, सरदार पटेल ने एकता के साथ राष्‍ट्र को एक सूत्र में पिरोया। एकता का यह मंत्र हमारे जीवन में और एक ऐसे देश में संस्‍कार की तरह है, जो विविधताओं से भरा हुआ है। हमें सभी मार्गों, प्रत्‍येक मोड़ों और प्रत्‍येक ठहराव पर एकता के इस मंत्र को मजबूत बनाना जारी रखना चाहिए। मेरे प्‍यारे देशवासियो, हमारा देश हमेशा से देश की एकता और साम्‍प्रदायिक सौहार्द को मजबूत बनाने में अत्‍यधिक सक्रिय और चौकस रहा है। यदि हम अपने आस-पास देखें तो हमें ऐसे अनेक लोगों के उदाहरण मिलेंगे, जो साम्‍प्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं।”

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘पिछले पांच वर्षों में – न केवल दिल्‍ली में बल्कि भारत के सैकड़ों शहर, संघ शासित प्रदेश, राज्‍य की राजधानियां, जिला केन्‍द्र, टियर-2 और टियर-3 श्रेणी वाले छोटे शहरों के भी बड़ी संख्‍या में लोग एकता दौड़ में भाग ले रहे हैं, चाहे पुरूष हों, महिलाएं, शहर के लोग, गांव के लोग, बच्‍चें, युवा, बुजुर्ग, दिव्‍यांग हों।'

फिट इंडिया के महत्‍व पर जोर देते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा, एकता दौड़ ऐसा अनोखा कार्यक्रम है, जो दिमाग, शरीर और आत्‍मा के लिए लाभदायक है। एकता दौड़ के दौरान न केवल हमें दौड़ना होता है, बल्कि इससे फिट इंडिया की भावना की झलक मिलती है। हम खुद को एक भारत, श्रेष्‍ठ भारत के साथ जुड़ा हुआ पाते हैं। और तो और, न केवल हमारा शरीर, बल्कि हमारा दिमाग भी भारत को शानदार ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए उसे एकता के साथ जोड़ता है।

एक वेब पोर्टल runforunity.gov.in की भी शुरूआत की गई है, जहां कोई भी व्‍यक्ति देशभर में आयोजित एकता दौड़ के विभिन्‍न स्‍थलों के बारे में जानकारी प्राप्‍त कर सकता है।

Image Gallery
Budget Advertisementt