वित्‍त मंत्रालय ने मूडीज इन्‍वेस्‍टर्स सर्विस के दृष्टिकोण में परिवर्तन पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

भारत सरकार ने पाया कि मूडीज इन्‍वेस्‍टर्स सर्विस ने शुक्रवार को बीएएटू पर विदेशी मुद्रा और स्‍थानीय मुद्रा दीर्घकालीन जारीकर्ता रेटिंग को अपरिवर्तित रखते हुए भारत सरकार की नकारात्‍मक से स्थिर रेटिंग पर अपना दृष्टिकोण बदल दिया है।

भारत हालांकि दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती हुई प्रमुख अर्थव्‍यवस्‍थाओं में से एक है। भारत की आपेक्षिक स्थिति स्थिर बनी हुई है। अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष ने अपनी नवीनतम वर्ल्‍ड इक्‍नॉमिक आउटलुक में उल्‍लेख किया है कि भारत की अर्थव्‍यवस्‍था 2019 में 6.1 प्रतिशत की दर से बढ़नी निश्चित है जो 2020 में बढ़कर 7 प्रतिशत हो जाएगी। जैसा कि भारत की संभावित विकास दर स्थिर बनी हुई है अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) और अन्‍य बहुपक्षीय संगठनों का भारत पर लगातार सकारात्‍मक दृष्टिकोण जारी रहा है।

भारत ने अर्थव्‍यवस्‍था को मजबूत बनाने के लिए वित्‍तीय क्षेत्र और अन्‍य सुधारों की एक श्रृंखला शुरू की है। भारत सरकार ने वैश्विक मंदी के जवाब में सक्रिय रूप से नीतिगत निर्णय भी लिए हैं। इन उपायों से भारत के बारे में सकारात्‍मक दृष्टिकोण को बढ़ावा मिलेगा और देश में पूंजी प्रवाह आकर्षित होगा तथा निवेश को भी बढ़ावा मिलेगा। मुद्रास्‍फीति नियंत्रण में रहने और बॉन्‍ड लाभ कम होने से अर्थव्‍यवस्‍था के बुनियादी ढांचे मजबूत बने रहेंगे। भारत निकट और मध्‍यावधि में विकास की मजबूत संभावनाओं को लगातार प्रस्‍तुत कर रहा है।

Image Gallery
Budget Advertisementt