वित्त मंत्री ने भारतीय राजस्व सेवा अधिकारियों के 69वें बैच के पासिंग-आउट समारोह की अध्यक्षता की



फरीदाबाद-हरियाणा,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

वित्त और कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को फरीदाबाद स्थित राष्ट्रीय सीमा शुल्क, अप्रत्यक्ष कर और नारकोटिक्स अकादमी के परिसर में भारतीय राजस्व सेवा (सीमा शुल्क एवं केंद्रीय उत्पाद) अधिकारियों के 69वें बैच के पासिंग-आउट समारोह की अध्यक्षता की। भारतीय राजस्व सेवा के 2017 के बैच में 24 महिला अधिकारियों सहित कुल 101 अधिकारी हैं। ये युवा अधिकारी आजादी के बाद भारत के सबसे बड़े कर सुधार जीएसटी के प्रशासन का कामकाज देखेंगे।

अपने संबोधन में वित्त मंत्री ने सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने के लिए 2017 के अधिकारियों को बधाई दी। उन्होंने देश की सीमाओं पर लागू होने वाले सीमा शुल्क कानून तथा देश की आर्थिक सीमाओं की सुरक्षा के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि इन अधिकारियों को व्यापार तथा उद्योग को प्रोत्साहन देना है। इसके अलावा पूरी निष्ठा के साथ राजस्व का संकलन करना तथा ईमानदारी के साथ कानून लागू करना अधिकारियों का दायित्व है। श्रीमती सीतारमण को गार्ड ऑफ ऑनर पेश किया गया और उन्होंने पासिंग-आउट परेड का निरीक्षण किया।

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) के अध्यक्ष पी• के• दास में अपने स्वागत भाषण में कहा कि अधिकारियों को कानून लागू करने तथा व्यापार को सुविधा देने के बीच उचित संतुलन कायम रखना होगा।

पासिंग-आउट समारोह के दौरान प्रशिक्षण के विभिन्न क्षेत्रों में शानदार उपलब्धियां हासिल करने के लिए 6 अधिकारी प्रशिक्षुओं को पदक प्रदान किए गए। बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मिशल क्वीनी डीकोस्टा को वित्त मंत्री का स्वर्ण पदक प्रदान किया गया।

कार्यक्रम में विभाग के सेवारत और सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधिकारियों सहित 2017 बैच के अधिकारियों के परिजन तथा अन्य विशिष्टजन उपस्थित थे।

Image Gallery
Budget Advertisementt