हरि मोहन ने ऑर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

हरि मोहन ने, सेवानिवृत हो चुके सौरभ कुमार, की जगह 01 दिसंबर, 2019 से ऑर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड (ओएफबी) के अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाल लिया है। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातकोत्तर उपाधि के साथ 1982 बैच के ऑर्डनेंस फैक्टरी बोर्ड सेवा (आई.ओ.एफ.एस) के अधिकारी हरि मोहन मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक और मास्टर्स की डिग्री प्राप्त करने के दौरान इलाहाबाद विश्वविद्यालय और पुणे विश्वविद्यालय के टॉपर रहे रहे हैं। उन्होंने पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एम. फिल की है।

हरि मोहन ने 39 साल के अपने लंबे करियर में, भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल) हरिद्वार, व्हीकल फैक्ट्री जबलपुर, इंजन फैक्ट्री अवाडी, हेवी व्हीकल फैक्ट्री अवाडी, एम्मुनिशन फैक्ट्री खड़की, ऑर्डनेंस फैक्ट्री बोलनगीर, ऑर्डनेंस फैक्ट्री चंदा, ऑर्डनेंस फैक्ट्री देहु रोड, ओएफबी नई दिल्ली कार्यालय और इस्पात और खान मंत्रालय में विभिन्न पदों पर अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

इस आई.ओ.एफ.एस अधिकारी को अन्य क्षेत्रों के अतिरिक्त बख्तरबंद वाहनों, आर्टिलरी, टैंक और गोला बारूद, लघु हथियार गोला बारूद, परियोजना प्रबंधन और कॉर्पोरेट प्रशासन के निर्माण के क्षेत्र में विविध अनुभव प्राप्त है। उन्होंने अजमेरा टैंक, एमबीटी अर्जुन, ब्रिज लेयर और ट्रैवल्स टैंक जैसे आर्मर्ड फाइटिंग व्हीकल्स के उत्पादन को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने इस्पात और खान मंत्रालय में अपने कार्यकाल के दौरान भारतीय इस्पात प्राधिकरण लिमिटेड (सेल) के इस्पात संयंत्रों के आधुनिकीकरण में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

हरि मोहन ने डीह रोड (पुणे), वरिष्ठ महाप्रबंधनक, हैवी व्हीकल फैक्ट्री, अवडी (एचवीएफ, चेन्नई) के महाप्रबंधक के रूप में कई वरिष्ठ पदों पर कार्य किया है। उन्हें एचवीएफ में उनकी सेवाओं के लिए 2018 में 'आयुध रत्न' पुरस्कार से सम्मानित किया गया। डीजीओएफ और अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभालने से पहले, वह ओएफबी के सदस्य के रूप में कार्यभार संभाल रहे थे और ओएफबी के हथियार, वाहन और उपकरण (डब्ल्यूवी और ई) प्रभाग के प्रभारी थे।

ताजा समाचार

  India Inside News


National Report



Image Gallery
Budget Advertisementt