बीएसएफ के जवानों ने संकट के समय सदैव राष्ट्र की रक्षा और सेवा करने के लिए कड़ी मेहनत की है : नित्यानंद राय



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने रविवार 01 दिसम्बर को यहां बीएसएफ के 55वें स्थापना दिवस पर सलामी ली। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि बीएसएफ के जवान लगन से हमारी सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं और संकट की परिस्थितियों में उन्होंने नागरिकों की सेवा में कड़ी मेहनत की है।

उन्होंने कहा कि देश की रक्षा करते हुए बीएसएफ द्वारा दिये गये बलिदान पर देश को गर्व है। बीएसएफ के जवानों द्वारा कर्तव्य की राह में दिए गए सर्वोच्च बलिदान की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी वजह से देश का हर नागरिक निडर होकर देश के विकास कार्यों में योगदान दे रहा है।

नित्यानंद राय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कुशल नेतृत्व में, सरकार ने सीएपीएफ जवानों के लिए सेवानिवृत्ति की आयु 57 से बढ़ाकर 60 वर्ष कर दी है, जिससे जवानों को अपने परिवारों के साथ एक वर्ष में 100 दिन बिताने की अनुमति मिली है और जम्मू और कश्मीर में तैनात गैर-हकदार जवान अब हवाई यात्रा कर सकते हैं। इस सरकार ने अर्ध सैन्य वेतन पैकेज स्कीम (पीएमएसपी) के तहत सीएपीएफ कर्मियों के लिए बैंकों द्वारा दिए जाने वाले व्यक्तिगत बीमा को बढ़ाकर 30 लाख करने की भी पहल की है। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के जवानों को हर संभव सुविधा देने के लिए कई प्रयास किए गए हैं।

श्री राय ने बल की प्रशंसा करते हुए कहा कि डेरा बाबा नानक में करतारपुर साहिब गलियारा सीमा सुरक्षा बल की निगरानी में सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि जवानों के असीम प्रयास के कारण, दुश्मनों को किसी घुसपैठ या किसी अपराध को करने से पहले कई बार सोचना पड़ता है।

श्री राय ने आगे कहा कि सरकार आधुनिकीकरण की दिशा में लगातार कदम उठा रही है और अर्धसैनिक बलों को और मजबूत बना रही है। उन्होंने कहा कि सरकार बलों को शक्तिशाली बनाने, अपने जवानों को सभी सुविधाएं और कल्याण प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

इस अवसर पर, उन्होंने बीएसएफ जवानों द्वारा एक प्रभावशाली परेड का निरीक्षण किया और मार्च पास्ट की सलामी ली। बाद में, उन्होंने बीएसएफ कर्मियों को वीरता और मेधावी सेवाओं के लिए पुलिस पदक प्रदान किए। उन्होंने वार्षिक पत्रिका "बॉर्डरमैन" का भी विमोचन किया। इससे पहले, उन्होंने बीएसएफ स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

परेड के मुख्य आकर्षणों में सशस्त्र महिला टुकड़ी, ऊंट / अश्व यूनिट, बीएसएफ कैमल माउंटेड बैंड द्वारा मार्च पास्ट और नवीनतम उपकरण और आयुध का प्रदर्शन शामिल था।

इस अवसर पर बीएसएफ के महानिदेशक विवेक कुमार जौहरी ने कहा कि राष्ट्र उन बीएसएफ जवानों को श्रद्धांजलि देता है जिन्होंने राष्ट्र की सुरक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया। उन्होंने कहा कि बीएसएफ इस देश के लोगों की सेवा के लिए केंद्र सरकार की योजनाओं को लागू करने में सरकार की मदद करके अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों का भी निर्वहन कर रहा है। इस अवसर पर बीएसएफ और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

Image Gallery
Budget Advertisementt