आयकर विभाग ने देश भर में शेयर ब्रोकरों/कारोबारियों के यहां तलाशियां लीं



नई दिल्ली,
इंडिया इनसाइड न्यूज़।

आयकर विभाग ने 03 दिसम्बर, 2019 को उन कुछ शेयर ब्रोकरों/कारोबारियों के यहां तलाशियां लीं, जो बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में इक्विटी डेरिवेटिव सेगमेंट के साथ-साथ करेंसी डेरिवेटिव सेगमेंट के भी अतरल (इललिक्विड) स्टॉक ऑप्शंस में सौदों को रिवर्स करके मुनाफे/घाटे के समायोजन में लिप्त पाए गए थे। मुम्बई, कोलकाता, कानपुर, दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, हैदराबाद और गाजियाबाद में 39 से भी अधिक स्थानों पर तलाशियां ली गईं।

इस तलाशी कार्रवाई से फर्जीवाड़े के उन समूचे तौर-तरीकों का पर्दाफाश हुआ है, जिन्हें शेयर ब्रोकरों/कारोबारियों ने इक्विटी डेरिवेटिव सेगमेंट के अतरल (इललिक्विड) स्टॉक ऑप्शंस में सौदे करने और इस तरह से बेहद कम समय में ही सौदों को रिवर्स कर कृत्रिम ढंग से घाटा/मुनाफा दर्शाने के लिए अपनाए थे। इस कृत्रिम फर्जीवाड़े के जरिये बेईमान निकायों ने अपेक्षित घाटा/लाभ कमाया, जो 3500 करोड़ रुपये से भी अधिक होने का अनुमान लगाया गया है। इस तलाशी के परिणामस्वरूप बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कम से कम उन तीन अत्यधिक सट्टेबाजी वाले ‘पेनी स्टॉक या शेयरों’ में गलत तरीके से अर्जित किए गए दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ के बारे में पता चला है जिनमें लाभार्थियों द्वारा लगभग 2000 करोड़ रुपये के जोड़-तोड़ अथवा फर्जीवाड़े वाले मुनाफे का उपयोग किया गया।

तलाशी के दौरान 1.20 करोड़ रुपये की अघोषित नकदी भी जब्त की गई। फर्जीवाड़े वाले इन सौदों के लाभार्थियों की संख्या हजारों में हो सकती है जो देश भर में फैले हुए हैं। इन लाभार्थियों की पहचान करने के साथ-साथ चोरी की गई कुल राशि के बारे में भी पता लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस दौरान मिले कई सनसनीखेज सबूतों पर भी बड़ी बारीकी से गौर किया जा रहा है, ताकि प्रत्यक्ष कर से जुड़े विभिन्न कानूनों के उल्लंघन के बारे में पता लगाया जा सके।

ताजा समाचार

  India Inside News


National Report



Image Gallery
Budget Advertisementt